ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
आर्यन इंटरनेशनल चिल्ड्रंस फिल्म फेस्टिवल का समापन,कई फिल्मों को दिए गए अवॉर्ड्स
August 29, 2019 • Arif Jamal

बेस्ट शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री फिल्म का अवॉर्ड सिंगापुर से लैट अस बी हीरोज़ – द ट्रू कॉस्ट ऑफ ऑवर फूड चॉइसेज़ को दिया गया। कनाडा से द फस्ट एंड लास्ट टाइमको बेस्ट सॉन्ग का अवॉर्ड दिया गया। भारतीय फिल्म द कॉमर्शियल ब्रेक को बेस्ट एड फिल्म का अवॉर्ड दिया गया।

जयपुर। आर्यन इंटरनेशनल चिल्ड्रंस फिल्म फेस्टिवल का तीसरा दिन फिल्मों के प्रदर्शन और पुरस्कारों के नाम रहा। शहर में जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ट्रस्ट की ओर से आयोजित आर्यन इंटरनेशनल चिल्ड्रंस फिल्म फेस्टिवल तथा 16 इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल्स का भव्य समापन हुआ।

गौरतलब है कि तीन दिवसीय समारोह में 19 देशों से आई 47 फिल्में दिखाई गईं। डॉल्फिंस हाई स्कूल, कैम्ब्रिज कोर्ट हाई स्कूल, माहेश्वरी पब्लिक स्कूल, जानकी देवी स्कूल और विमुक्ति संस्थान, जयश्री पेड़ीवाल स्कूल, भाभा पब्लिक स्कूल, एस.एम.एस. स्कूल, संस्कार  स्कूल, टैगोर इंटरनेशनल स्कूल, ब्राइड लैंड स्कूल,जागृति संस्थान तथा दिशा फाउण्डेशन, गवर्नमेंट स्कूल [किरणी फाटक के निकट] सहित 25 स्कूलों के लगभग पन्द्रह हज़ार बच्चों ने फिल्मों का आनंद लिया। यहां तक कि मूक बधिर बच्चों ने भी फिल्म देखने का आनंद लिया, और इशारों के ज़रिए बताया कि वे फिल्म देख कर कितने ख़ुश हैं।

कार्यक्रम का समापन समारोह दोपहर 12:30 हुआ, जहां मुख्य अतिथि के रूप में हरिदेव जोशी पत्रकारिकता विश्वविद्यालय के कुलपति ओम थानवी उपस्थित रहे। समारोह के सफल आयोजन को बधाई देते हुए थानवी ने कहा कि सिनेमा हमें बोलना व मुखर होना सिखाता है। वर्तमान में यह हमारा दायित्व है कि हम अपने बच्चों को सिनेमा के माध्यम से जीवन में सही दिशा प्रदान करें। ऐसे में, इस प्रकार के फिल्म फेस्टिवल्स होते रहने चाहिए।

कार्यक्रम में पधारे आई.ए.एस. नीरज के. पवन ने जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल तथा संस्थापक हनु रोज़ को शुभकामनाएं देते हुए यह विश्वास भी जताया कि निस्सन्देह ही अगले वर्ष तक फिल्म देखने वाले बच्चों की संख्या एक लाख तक पहुंच जाएगी।

जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल [जिफ] संस्थापक हनु रोज़ ने कहा कि इस वर्ष आर्यन इंटरनेशनल चिल्ड्रंस फिल्म फेस्टिवल के प्रति नन्हे दर्शकों का रूझान बेहद सकारात्मक रहा, जिसे देखते हुए अगले साल इससे कहीं बड़े स्तर पर फिल्म समारोह का आयोजन किया जाएगा। चयनित एक स्कूल को फिल्म हब के रूप में विकसित किया जाएगा। वहीं, फिल्म स्क्रीनिंग के साथ ही फिल्मों पर आधारित कई वर्कशॉप्स, पोस्टर प्रदर्शनी, चर्चाएं और अन्य गतिविधियां रखी जाएंगी। निश्चित तौर पर शहर के नन्हे फिल्म प्रेमियों के लिए यह बहुत रुचिकर साबित होगा। अगले वर्ष भी इसी तारीख पर आर्यन इंटरनेशनल चिल्ड्रंस फिल्म फेस्टिवल का आयोजन होगा।

कार्यक्रम में विशिष्ट मेहमानों ओम थानवी, नीरज के पवन, आइनॉक्स के जनरल मैनेजर अमिताभ जैन, गायिका वीणा मोदानी ने विजेता फिल्मों को पुरस्कार बांटे।

यू.के. की फिल्म कीपिंग मम को बेस्ट शॉर्ट फिक्शन फिल्म का अवॉर्ड दिया गया। भारतीय फिल्म पिंकी की पढ़ाई बेस्ट सैकिंड शॉर्ट फिक्शन फिल्म रही। अमेरीका से वॉयलेट इज़ ब्लू-अ टेल ऑफ गिबंस एंड गार्डियंस को बेस्ट शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री फिल्म के पुरस्कार से नवाज़ा गया। यू.एस. से गॉडस्पीड को बेस्ट शॉर्ट एनिमेशन फिल्म का अवॉर्ड मिला। टर्की से गुड गेम-दा बिगनिंग बेस्ट फीचर फिक्शन फिल्म रही। दूसरे स्थान पर भारतीय फिल्म उड़ चले और तीसरे स्थान पर वरदानियारही।

यू.एस. के एंट नो मिस्ट्री को बेस्ट सॉन्ग का अवॉर्ड दिया गया। राजस्थान से राहुल सूद की फिल्म पापा नहीं मानेंगे और बोस्निया एंड हर्जेगोविना से स्नो फॉर वॉटर को शॉर्ट फिक्शन कैटेगरी में स्पेशल एप्रिसिएशन अवॉर्ड दिया गया।

भारतीय फिल्म 18+त्रिशा को बेस्ट शॉर्ट फिक्शन फिल्म का अवॉर्ड दिया गया। इटली से रैड हैंड्स को बेस्ट एनिमेशन शॉर्ट फिल्म का अवॉर्ड दिया गया। बेस्ट एनिमेशन फीचर फिल्म का अवॉर्ड कनाडा से रेसटाइम के नाम रहा। बेस्ट फीचर फिक्शन फिल्म का अवॉर्ड सर्बिया से किंग पीटर I फिल्म को दिया गया। इस कैटेगरी में टॉप थर्ड फिल्म रही वो जो था एक मसीहा – मौलाना आज़ाद। टॉप सैकिंड रही भारतीय फिल्म आय रिमेम्बर