ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
नवरात्रि से शुरू होगी कुणाल आदित्‍य की भोजपुरी फिल्‍म ‘रूद्र काली’ की शूटिंग  
July 28, 2019 • क़ुतुब मेल
कुणाल आदित्‍य बलिया, उत्तर प्रदेश के निवासी हैं। भोजपुरी फिल्‍मों से पहले उन्‍होंने हिंदी इंडस्‍ट्री में भी खूब काम किया है। वे यश राज के तीन – तीन सीरीयल में नजर आ चुके हैं। उनका बैकग्राउंड थियेटर से रहा है और वे श्रीराम सेंटर के पास आउट हैं। उन्‍होंने डीडी नेशनल और डीडी उर्दू के लिए भी काम किया है। भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री में आना, उनके दादा और दादी का सपना था।
 
मुंबई - अभिनेता कुणाल आदित्‍य जल्‍द ही भोजपुरी फिल्‍म 'रूद्र काली' में नजर आयेंगे। इस फिल्‍म के निर्माण की घोषणा हो चुकी है। फिल्‍म को डायरेक्‍टर भोजपुरी इंडस्‍ट्री के स्‍टाइलिश डायरेक्‍टर – कोरियोग्राफर राम देवन करेंगे और फिल्‍म की निर्माता ट्यूलिप सिंह हैं। मी एंड माय सेल्‍फ क्रियेशन के बैनर तले बनने वाली इस‍ फिल्‍म की शूटिंग नवरात्रि के पहले दिन से शुरू होगी। फिल्‍म में अभिषेक सिंह गोलू, अवधेश मिश्र और सनी सिंह भी नजर आने वाली हैं। फिल्‍म 'रूद्र काली' इसी बैनर तले बनी फिल्‍म 'उधारी सुपरस्‍टार' के साथ फ्लोर पर जायेगी।  
 
ये जानकारी अभिनेता कुणाल आदित्‍य ने मीडिया को दी है, जो खुद भी इस फिल्‍म के लीड रोल में नजर आने वाले हैं। वे इस फिल्‍म में बड़े भाई के किरदार में नजर आने वाले हैं, जो अपने छोटे भाई की परवरिश अपने बच्‍चे की तरह करते हैं और उसके उज्‍जवल भविष्‍य के लिए कोई भी त्‍याग करने से हिचकते नहीं है। फिल्‍म का क्‍लाइमेक्‍स बेहद अहम होने वाला है। फिल्‍म में एक्‍शन, इमोशन और रोमांस भरा होगा। इसलिए यह दर्शकों के लिए खास होगा। उन्‍हें फिल्‍म 'रूद्र काली' देखकर ये लगेगा कि फिल्‍में ऐसी ही बननी चाहिए।
 
कुणाल आदित्‍य ने बताया कि इन दिनों फिल्‍म 'रूद्र काली' के गानों का काम जोरशोर से चल रहा है। रायटर और म्‍यूजिक डायरेक्‍टर इस पर काम कर रहे हैं। हमारी कोशिश है कि गाना समेत फिल्‍म की शूटिंग एक्‍चुअल सिचुएशन में हो। उन्‍होंने फिल्‍म के डायरेक्‍टर राम देवन को बेहतरीन डायरेक्‍टर बताया और कहा कि उनका तकनीकी पक्ष बेहद स्‍ट्रांग है। उनके साथ काम करने में हमें मजा आने वाला है।  फिल्‍म के पीआरओ संजय भूषण पटियाला होंगे।
 
इस बारे में कुणाल कहते हैं, 'मेरे दादा और दादी कहा करते थे कि कुछ भी करो, लेकिन अपनी मिट्टी से हमेशा जुडे रहना। उनकी ये बातें मुझे मेरी मिट्टी के लिए कुछ करने को प्रेरित करती है, इसलिए मैंने भोजपुरी सिनेमा का रूख किया और साल 2015 में फिल्‍म 'महालंठ' किया, जिसके लिए मुझे बेस्‍ट डेब्‍यू का अवार्ड भी मिला। उस फिल्‍म ने मुझे पहचान दी। महालंठ का मतलब भगवान शिव से है और मुझे आज बेहद खुशी हो रही है कि सावन के महीने में मेरी एक और फिल्‍म का अनाउंसमेंट हुआ।