ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
“एमजी डेवलपर प्रोग्राम एंड ग्रांट” के तहत 6 और स्टार्ट-अप्स के साथ करार
June 30, 2020 • नूरुद्दीन अंसारी • बिज़नेस

गुरुग्राम : एमजी (मॉरिस गैराज) मोटर इंडिया ने घोषणा की कि उसने अपने मौजूदा एमजी डेवलपर प्रोग्राम एंड ग्रांट के लिए 6 और स्टार्ट-अप्स के साथ करार किया है। छह फाइनलिस्ट में हाईवे डिलाइट, सोशलकोर, इनकैबएक्स, कैमकॉम, क्लियरक्वोट और एलेक्सा-आधारित प्रोजेक्ट मीसीक्स शामिल हैं। इन स्टार्ट-अप्स को टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट्स से ग्रांट और मेंटरिंग मिलेगी और चयनित प्रोजेक्ट्स पर विशेष एमजी टीमों के साथ सीधे काम करने का अवसर मिल सकता है।

स्टार्ट-अप कम्युनिटी के भीतर इनोवेशन को प्रोत्साहित करने पर अपना फोकस रखते हुए एमजी मोटर इंडिया ने भारत के ऑटोमोबाइल स्पेस में इनोवेशन को आगे बढ़ाने के लिए 2017 से अब तक पहले ही 60 से अधिक स्टार्ट-अप को सपोर्ट किया है। इस तरह के स्टार्ट-अप इंजन एंड एमिशन, टेक्नोलॉजी, कार में चाइल्ड सेफ्टी, नेविगेशन, कनेक्टिविटी और इलेक्ट्रिक वाहनों के इकोसिस्टम के साथ-साथ दूसरों के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। कार्यक्रम का समग्र उद्देश्य एक विशेष अनुदान का निर्माण कर स्थानीय स्टार्ट-अप कम्युनिटी का समर्थन करना है। ब्रांड स्वदेशी रूप से इनोवेशन को बढ़ावा देने का इरादा रखता है और भारत में स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के विकास में योगदान देता है, जिससे समाज में समग्र योगदान होता है।

एमजी डेवलपर प्रोग्राम एंड ग्रांट संगठन के मुख्य स्तंभ के रूप में इनोवेशन पर कार निर्माता के फोकस का एक हिस्सा है। एडोबी, कॉग्निजंट, एसएपी, एयरटेल, टॉमटॉम, अनलिमिट और अन्य कई तकनीकी दिग्गजों के साथ साझेदारी में लॉन्च किए गए इस कार्यक्रम का उद्देश्य भारतीय शहरी मोबिलिटी स्पेस में जमीनी स्तर पर सॉल्युशंस को बढ़ावा देना है।

एमजी मोटर इंडिया के अध्यक्ष और एमडी राजीव चाबा ने इस घटना क्रम पर कहा, “एमजी इनोवेशन पर आगे बढ़ता है और इसने भारतीय स्टार्ट-अप इकोसिस्टम के साथ सहजीवी संबंध विकसित किया है। हमारा लक्ष्य स्वदेशी रूप से देश में शहरी मोबिलिटी के लिए व्यापक, टिकाऊ और स्मार्ट इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करना है। एमजी डेवलपर प्रोग्राम को बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। हम उन सभी टीमों का स्वागत करते हैं, जिन्हें इस पहल में साइन किया गया है। हम उनकी मेंटरिंग और उनके साथ मिलकर काम करने को तत्पर हैं। एमजी इन स्टार्ट-अप के साथ सिनर्जी का भी पता लगाएगा और अपने आगामी वाहनों में अपने सॉल्युशंस में भी उन्हें ला सकता है। ”

प्रोग्राम को 300 से अधिक प्रविष्टियां मिली थीं, जिनमें से 60 टीमों को पहले दौर में चुना गया। इन टीमों को एमजी इंडिया के नेतृत्व के साथ-साथ इसके टेक्नोलॉजी इकोसिस्टम भागीदारों सहित 25 उद्योग विशेषज्ञों ने मेंटरशिप प्रदान की है। इससे ऑटोमोटिव सेगमेंट में सबसे बड़े मेंटरिंग कार्यक्रमों में से एक बना। चयनित उम्मीदवारों में से हाईवे डिलाइट भारत का पहला फ्री ट्रैवल ऐप है, जो हाईवे यात्रा और सड़क यात्रा, दोनों को सुरक्षित और मजेदार बनाता है। मीसीक्स एलेक्सा / एमजी के वॉयस असिस्टेंट का इस्तेमाल डिजिटल मैनेजमेंट और कस्टमर सर्विस अनुभव को बेहतर बनाने के लिए करता है।

सोशलकोर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का उपयोग बिक्री में सुधार और लागत में कमी के साथ ग्राहकों से बातचीत बढ़ाने में करता है, जबकि इनकैबएक्स यूजर्स की पसंद के अनुसार कार प्रोफाइल को पर्सनलाइज करके एक बेहतर इन-केबिन अनुभव बनाता है। कैमकॉम एक एआई-आधारित स्टार्ट-अप है जो दोष और क्षति का आकलन बताता है जबकि क्लियरकोट क्षतिग्रस्त कार की छवियों / वीडियो के माध्यम से मरम्मत का अनुमान लगाता है। 6 स्टार्ट-अप एमजी डेवलपर प्रोग्राम एंड ग्रांट के तहत पहले से साइन की गई कंपनियों में शामिल होंगे, जिनमें वोक्सोमोस, ड्रिफ्टली और इनवॉल्युशन शामिल हैं।

स्टार्ट-अप्स के साथ एमजी की यात्रा 2017 में पहले एमजी इनोवेशन हंट के साथ शुरू हुई जो टीआईई दिल्ली के साथ साझेदारी में लॉन्च की गई थी। तब से एमजी इंडिया ने भारत की स्टार्ट-अप कम्युनिटी और अग्रणी शैक्षणिक संस्थानों के साथ साझेदारी में कुल 6 स्टार्ट-अप प्रोग्राम आयोजित किए हैं, जो सभी एमजी डेवलपर प्रोग्राम एंड ग्रांट में साथ आते हैं। विभिन्न एमजी स्टार्ट-अप कार्यक्रमों ने पूरे भारत में ऑटो टेक में अब तक स्टार्ट-अप और इनोवेटर्स के 750 से अधिक ऐप्लिकेशंस को आकर्षित किया है।