ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
8वां अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मार्ट मणिपुर के इम्फाल में शुरू
November 23, 2019 • क़ुतुब मेल • अंतर्राष्ट्रीय

मणिपुर - 8वें अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मार्ट, के जरिए सतत पर्यटन को आर्थिक विकास और रोजगार के इंजन के रूप में प्रचारित किया जाएगा। यह पर्यटन को बढ़ावा देने उपायों पर चर्चा के अलावा पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के बीच सांस्कृतिक संबंधों को बढ़ावा देने तथा इन राज्‍यों के साथ पड़ोसी देशों के संबंध बेहतर बनाने के लिए एक मंच भी प्रदान करेगा। दुनिया भर से और देश के विभिन्न क्षेत्रों से आए खरीदार और मीडिया के लोग इस मार्ट में भाग ले रहे हैं जिससे वे उत्तर-पूर्वी क्षेत्रों के विक्रेताओं के साथ सीधी बातचीत करने का अवसर मिलेगा।

ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, कंबोडिया, चेक, दुबई, इटली, जापान, ओमान, कोरिया, म्यांमार, मलेशिया, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, सिंगापुर, स्पेन, थाईलैंड, अमेरिका, ब्रिटेन और वियतनाम जैसे देशों से आए खरीदारों की कुल 36 टीमें मार्ट में भाग ले रही हैं।

भारत सरकार का पर्यटन मंत्रालय  पूर्वोत्तर राज्यों के साथ मिलकर 23 नवंबर से 25 नवंबर तक मणिपुर की राजधानी इम्फाल में "अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मार्ट" (आईटीएम) का आयोजन कर रही है। संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) प्रहलाद सिंह पटेल और मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह संयुक्त रूप से इसका उद्घाटन करेंगे। इस अवसर पर पयर्टन मंत्रालय के सचिव श्री योगेन्द्र त्रिपाठी और केन्द्रीय मंत्रालयों और पूर्वोत्तर राज्यों के कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहेंगे।

यह 8वां अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मार्ट है जो घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में इस क्षेत्र की पर्यटन क्षमताओं को उजागर करने के उद्देश्य से पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में हर साल आयोजित किया जाता है। यह आठ उत्तर पूर्वी राज्यों के पर्यटन व्यवसाय से जुड़े कारोबारियों और उद्यमियों को एक साथ आने का अवसर देता है। यह कार्यक्रम खरीदारों, विक्रेताओं, मीडिया, सरकारी एजेंसियों और अन्य हितधारकों के बीच परस्‍पर संपर्क को सुविधाजनक बनाने के लिए आयोजित किया गया है। अरुणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, त्रिपुरा और सिक्किम जैसे भारत के उत्तर पूर्वी राज्य विभिन्न आकर्षक पर्यटक स्‍थलों और उत्पादों से समृद्ध हैं। इन  क्षेत्रों की विविध भौगोलिक स्थिति, इसके वनस्पति और जीव, प्राचीन परंपराओं और जीवन शैली की समृद्ध विरासत, जातीय समुदाय, त्यौहार, कला और शिल्प, इन्‍हें छुट्टियां बिताने और कुछ नया तलाशने की बेहतरीन जगह बनाते हैं।

इन विदेशी प्रतिनिधियों के अलावा देश के पर्यटन क्षेत्र से जुड़े 49 घरेलू हितधारक और उत्तर पूर्वी राज्यों के 109 विक्रेता मार्ट में भाग ले रहे हैं।

मार्ट के आयोजन के दौरान अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू खरीदार उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विक्रेताओं के साथ कारोबार से संबंधित बैठकों में शामिल होंगे। इस तीन दिन के आयोजन के दौरान राज्य सरकारें अपनी पर्यटन क्षमता पर प्रस्‍तुतियां देंगी तथा सांस्कृतिक संध्याओं का आयोजन होगा। मणिपुर सरकार द्वारा इम्फाल के आसपास और स्थानीय दर्शनीय स्थलों की यात्राएँ भी कराई जाएंगी।

 उत्तर पूर्वी राज्यों के पर्यटन विभागों द्वारा इस दौरान एक प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी जिसमें पूर्वोत्‍तर सुंदर हस्तशिल्प और हथकरघा उत्‍पाद देखने को मिलेंगे।  मार्ट में भाग लेने के लिए मध्य प्रदेश को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया है।  क्योंकि यह "एक भारत श्रेष्ठ भारत" पहल के तहत मार्ट में मणिपुर का सहयोगी राज्‍य बनाया गया है।

यह मार्ट उत्तर पूर्वी क्षेत्र के समृद्ध और विविध पर्यटन उत्पादों के बारे में जागरूकता पैदा करेगा।  अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मार्ट का आयोजन उत्तर पूर्वी राज्यों में बारी-बारी से किया जाता है। मणिपुर इस मार्ट की दूसरी बार मेजबानी कर रहा है। इस मार्ट के पहले संस्करण गुवाहाटी, तवांग, शिलांग, गंगटोक, अगरतला में आयोजित किए जा चुके हैं।