ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
अन्तर्राष्ट्रीय योगा दिवस-----
June 21, 2020 • Arif Jamal • साहित्य

सुषमा भंडारी 

दोहे 
1
आसन-प्राणायाम गर , रोज करेंगे लोग। 
योग सभी का साथ दे, दूर भगाये रोग ।।
2
कोरोना का डर हुआ, ढूँढे सब उपचार।
रोग , योग से दूर हो, फ़िर क्यूं हो लाचार।।
3
साँस - साँस में योग है , योगा को प्रणाम।
नियमित आसन जो करे, छू ले वो आयाम।।
4
नित अपनाये योग हम, बीमारी हो दूर ।
रोग निरोधक योग है , ना हों हम मजबूर । 5
5
आपा-धापी जिंदगी, एकल हैँ पारिवार।
जीवन हो आसान गर , योगा से हो प्यार।।
6
जीने का संदेश दे , योगा हमको रोज ।
नियमित करता योग जो , वो ही करता मौज।।
7
अच्छे सोच-विचार हों , योगा का हो संग। 
बीमारी सब दूर हों, खुशियों के होँ रंग। ।
8
अब के बर्ष योगा करें, मास्क ग्लब के साथ।
कोरोना को मात दें, कुछ भी हों हालात ।।

 ( बालगीत- योगा को अपनाओ )

योगा को अपनाओ बच्चों
योगा को अपनाओ 
तन-मन सुखी बनाओ बच्चों
तन- मन सुखी बनाओ
सब से पहले आसन की विधि
जान लो पह्चान लो 
उसके बाद प्रतिदिन आसन 
करना है ये ठान लो
गीत खुशी के गाओ बच्चों 
गीत खुशी के गाओ
दुख को दूर भगाओ बच्चों
दुख को दूर भगाओ
योगा को अपनाओ बच्चों 
योगा को अपनाओ 
योगा करके जीवन में बस
केवल खुशियां आती हैं
आने वाली सब बीमारी 
दूर भाग जाती हैं
भोजन ताजा खाओ बच्चों
भोजन ताजा खाओ
शक्ति खूब बढ़ाओ बच्चों
शक्ति खूब बढ़ाओ
योगा को अपनाओ बच्चों
योगा को अपनाओ
हरएक रोग की दवा है योगा
योगा का कोई मोल नहीं
योगा जीवन की पद्दति है
इस में कोई झोल नहीं
जीवन सफल बनाओ बच्चों 
जीवन सफल बनाओ
सत्यपथ अपनाओ बच्चों 
सत्यपथ अपनाओ
योगा को अपनाओ बच्चों
योगा को अपनाओ 
जान गई है दुनिया सारी
ये प्रदूषण पर है भारी
नियमित जो भी योगा करते
दूर होती है बीमारी
जागरूक तुम हो जाओ बच्चों
जागरूक तुम हो जाओ
देश को स्वस्थ बनाओ बच्चों
देश को स्वस्थ बनाओ
योगा को अपनाओ बच्चों
योगा को अपनाओ 

सुषमा भंडारी