ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
ब्रेनली ने 2019 का समापन 20 मिलियन यूजर्स के साथ किया
December 17, 2019 • नूरुद्दीन अंसारी • अंतर्राष्ट्रीय

ब्रेनली ने 2019 का समापन 20 मिलियन यूजर्स के साथ किया,एक साल में पिछली संख्या को दोगुना करने में पाई कामयाबी। दुनिया भर में  150 मिलियन से अधिक छात्र, माता-पिता और शिक्षक अब हर महीने इस प्लेटफार्म का
उपयोग कर रहे हैं, क्योंकि वे शिक्षा को पारंपरिक दृष्टिकोण से परे देखते हैं

नयी दिल्ली : छात्रों, माता-पिता और शिक्षकों के लिए दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन लर्निंग कम्युनिटी ब्रेनली ने भारत में सबसे भरोसेमंद ऑनलाइन लर्निंग के संसाधनों में से एक के रूप में उभरकर जबरदस्त तेजी से विकास किया है। इस प्लेटफार्म ने 100% की साल-दर-साल वृद्धि के साथ ( 2018 के नवंबर में घोषित 10 मिलियन की तुलना में) 20 मिलियन मासिक उपयोगकर्ताओं की संख्या हासिल करने में सफलता पाई है। छात्रों से लेकर माता-पिता, विशेषज्ञों और शिक्षकों तक ब्रेनली का यूजर-बेस विविधतापूर्ण है जो ऑनलाइन लर्निंग का लाभ उठा रहा है और समग्र शिक्षा को सक्षम करते हुए शैक्षणिक विषयों पर छात्रों की पकड़ मजबूत कर रहा है।

भारत में ब्रेनली की सफलता पर ब्रेनली के सह-संस्थापक और सीईओ माइकल बोर्कोव्सकी ने कहा, “अधिकांश छात्र और उनके माता-पिता इंटरनेट पर जानकारी की प्रचुरता के बावजूद उसके भरोसेमंद होने को लेकर संघर्ष करते हैं और सही स्रोत के बारे में उलझन होने पर उसे बीच में ही छोड़ देते हैं। इन मुद्दों की वजह से ही ब्रेनली ने यूजर-बेस में अभूतपूर्व वृद्धि की है, क्योंकि यह निर्देशों और अंतिम समझ के बीच की खाई को पाटता है। ब्रेनली में हम दुनिया भर के 150 मिलियन से अधिक छात्रों, शिक्षकों और माता-पिताओं के लिए एक उपयोगी संसाधन की भूमिका निभाने को लेकर बेहद खुश हैं, जिनमें भारत के 20 मिलियन उपयोगकर्ताओं की महत्वपूर्ण हिस्सेदारी है। हमारा लक्ष्य देश में विस्तार जारी रखते हुए भारतीय छात्रों की चिंताओं को प्रभावी ढंग से दूर करना है।”

ब्रेनली का मासिक यूजर 20 मिलियन+ है और यह तेजी से बढ़ रहा है। ब्रेनली भारत में वैकल्पिक के -12 शिक्षा के सबसे अच्छे और सबसे भरोसेमंद डिजिटल सुविधाकर्ताओं में से एक के रूप में उभरा है। इस प्लेटफार्म ने विविधता लाने में एक कदम बढ़ाते हुए क्षेत्रीय भाषाओं में भी काम शुरू किया है। इससे यह सुनिश्चित होता है कि सामग्री न केवल भारतीय यूजर-बेस के लिए सुलभ है, बल्कि वे अपनी पसंदीदा भाषा में भी इसका लाभ उठा सकते हैं।

भारतीय शिक्षा परिदृश्य में यह देखा गया है कि किसी भी विषय के बारे में बेहतर समझ हासिल करने और उसे याद रखने में सक्षम बनाने के लिए क्लासरूम की पढ़ाई और होमवर्क प्राथमिक भूमिका निभाते हैं। हालांकि, छात्र अब कंसेप्ट या विषय की गहन समझ प्राप्त करने के उद्देश्य से अपने होमवर्क के लिए सिर्फ समाधान की तलाश से आगे जाने का प्रयास करते हैं। इसका प्रमुख कारण यह है कि सीखने की प्रक्रियाओं में व्यापक बदलाव आया है और देशभर के छात्रों को अतिरिक्त सहायता की आवश्यकता महसूस होने लगी है।

 ब्रेनली ने भारतीय यूजर-बेस के बीच हाल ही में सर्वेक्षण कराया था। इससे पता चला कि कैसे परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करने के अलावा 25.7% से अधिक छात्रों ने 2020 में नई अवधारणाओं और विषयों के बारे में जानने की उम्मीद की। वहीं, 19.8% से अधिक समय पर अपने कामों को पूरा करने को तत्पर हैं। सही मायनों में यह वह जरूरत है जो ब्रेनली जैसे सहयोगी डिजिटल लर्निंग प्लेटफॉर्म गहन, अधिक व्यापक सीखने की सुविधा प्रदान कर छात्रों के शैक्षणिक प्रश्नों को संबोधित करते हैं।