ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
एमजी इंडिया एमजी नर्चर प्रोग्राम के तहत 200 छात्रों को मार्केट-फोक्सड स्किल सेट से लैस करेगी
May 17, 2020 • नूरुद्दीन अंसारी • बिज़नेस

नई दिल्ली : बड़े पैमाने पर समुदाय की सेवा के लिए अपनी प्रतिबद्धता को आगे बढ़ाते हुए एमजी मोटर इंडिया ने एमजी नर्चर प्रोग्राम की घोषणा की है। यह छात्रों को प्रशिक्षण देने पर केंद्रित अपनी तरह का पहला स्टूडेंट सपोर्ट प्रोग्राम है। यह पहल लगभग 200 छात्रों को मार्केट-फोक्सड स्किल सेट से लैस करेगी और उन्हें भविष्य के लिए तैयार करेगी।

इस कठिन समय में और विस्तारित लॉकडाउन के समय में एमजी मोटर इंडिया की पहल का उद्देश्य स्टूडेंट कम्युनिटी को स्किल से लैस करना है जो भविष्य में उनके कैरियर संभावनाओं को बढ़ाएगा। इसके बदले में कार निर्माता देश के युवाओं के क्रिएटिव और इनोवेटिव विचारों का लाभ उठाएगा। एमजी नर्चर प्रोग्राम के लिए स्क्रीनिंग टेस्ट में कॉलेजदेखो अपने इकोसिस्टम के जरिये समर्थन देगा। इसमें एक इंडस्ट्री-फर्स्ट रोबोटिक चयन प्रक्रिया होगी, जिसे दूसरे स्टार्ट-अप इव्यूमी रोबोटिक चयन द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा। प्रोग्राम का विशेष आकर्षण उच्च अध्ययन के लिए कुछ छात्रवृत्ति प्रदान करने का है।

एमजी मोटर इंडिया के अध्यक्ष और मैनेजिंग डायरेक्टर राजीव चाबा ने इस पहल पर कहा, "इस मुश्किल समय में एमजी नर्चर प्रोग्राम हमें छात्रों तक पहुंचने और उन्हें भविष्य में बाजार के लिए तैयार रहने में सक्षम बनाएगा। यह प्रोग्राम जून से आठ हफ्ते की अवधि के लिए शुरू होगा और हमारा फोकस इसके बाद कुछ प्रतिभाशाली छात्रों को नौकरी के अवसर प्रदान करने पर भी होगा। यह पहल छात्रों को सीखने का शानदार अनुभव देने और हमारे देश में एक फॉरवर्ड-लुकिंग टैलेंट पूल बनाने के लिए शुरू की गई है। ”

एमजी नर्चर उन कार्यक्रमों की शृंखला के तहत नवीनतम पहल है, जिसके तहत ऑटोमेकर ने समाज और समुदाय के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को मजबूत किया है। इसके इनक्लूसिव फिलोसॉफी के एक हिस्से के तौर पर प्रोग्राम के तहत 50:50 के अनुपात पुरुषों और महिलाओं को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा। कार निर्माता ने ब्रिटेन और भारत के बीच एमजी ब्रिज टू-वे क्रॉस-कल्चरल एक्सचेंज प्रोग्राम की पहल भी की गई थी। कंपनी ने हाल ही में ‘ड्राइव हर बैक’ की घोषणा की, जो अनुभवी और योग्य महिलाओं को सम्मान और गौरव के साथ कार्यस्थल पर लौटने में सक्षम बनाने का एक यूनिक प्रोग्राम है और यह भारत में एमजी में कर्मचारियों के विविधतापूर्ण पूल का निर्माण करता है।