ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
हर महिला के लिए देश भर में अभियान
April 26, 2020 • नूरुद्दीन अंसारी • राष्ट्रीय

नई दिल्लीः जहां एक ओर दुनिया कोविद .19 से लड़ रही है, इस समय ;हाइजीन्इकद्ध प्रोडक्ट भी ज़रूरी हैं जो सुरक्षित रहने और स्वच्छता बनाए रखने में मदद करें। इस मुश्किल दौर में ज़रूरतमंद लोगों को भोजन और दवाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं, साथ ही महिलाओं की ज़रूरतों को समझना भी ज़रूरी है। सैनिटरी नैपकिन हर महिला की मूल ज़रूरत है जो उन्हें ब्व्टप्क्.19 के दौरान साफ-सफाई रखने और इन्फेक्शन से बचने में मदद करती है, खासतौर पर इस ब्व्टप्क्.19 के दौर में यह और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।

आज पूरी दुनिया सदी के सबसे चुनौतीपूर्ण स्वास्थ्य संकट के दौर से गुज़र रही है। अधिकारी लोगों तक हर तरह की मदद पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं, ज़रूरतमंदों तक भोजन से लेकर मास्क और सैनिटाइज़र तक पहुंचाए जा रहे हैं। 
महिलाओं को माहवारी के लिए हाइजीनिक प्रोडक्ट उपलब्ध कराने वाले भारतीय ब्राण्ड परी ने हर ज़रूरतमंद महिला तक सैनिटरी नैपकिन पहुंचने का फैसला लिया और अपने अभियान रुैीमथ्पतेज का लाॅन्च किया है, क्योंकि ब्राण्ड का मानना है कि सैनिटरी नैपकिन हर महिला के लिए ज़रूरी हैं रुच्ंके।तमम्ेेमदजपंस। 

परी, ब्प्प्.प्ॅछ, रसोई आॅन व्हील्स, पंजाब पुलिस और कई अन्य संस्थाओं के सहयोग से सुनिश्चित कर रहा है कि महिलाओं के लिए सबसे ज़रूरी हाइजीन प्रोडक्ट- सैनिटरी नैपकिन हर महिला और हर लड़की तक पहुंचे। सायना नेहवाल, गरिमा अवतार, रिंकी धींगरा ( ब्प्प्.प्ॅछ की चेयरवुमन), मनिका बधवार- सह-संस्थापक रसोई आॅन व्हील्स ने इस पहल को अपना समर्थन दिया है और इस मुश्किल समय में हर महिला की गरिमा को बनाए रखने में प्रयासरत हैं। 
 अभियान के बारे में बात करते हुए साहिल धारिया-सीईओ एवं संस्थापक, परी ने कहा,  ‘‘महिलाएं समाज की रीढ़ हैं और अपने परिवार की देखभाल करती हैं। महिलाओं को अपने स्वास्थ्य को प्राथमिकता देनी चाहिए। हमारा मानना है कि सैनिटरी पैड हर महिला की मूल ज़रूरत है और इस संकट के समय में महिलाओं की इस ज़रूरत को पूरा करना ज़रूरी है। एक ब्राण्ड होने के नाते, हम हर महिला को आश्वासन देना चाहते हैं कि हम आपके साथ हैं, आप हम पर भरोसा कर सकती हैं। हमें गर्व है कि हमें पंजाब पुलिस, ब्प्प् प्ॅछ, रसोई आॅन व्हील्स आदि का सहयोग मिला है। पैड हर महिला के लिए ज़रूरी हैं और मैं रुैीमथ्पतेज के लिए प्रतिबद्ध हूं।’’ रुच्ंके।तमम्ेेमदजपंस ंदक प् चसमकहम रुैीमथ्पतेजण्श् 
 
सायना नेहवाल, ब्राण्ड परी की एक हितधारक ने अभियान को अपना समर्थन दिया है और उन्होंने कहा,  ‘‘ मुझे खुशी है कि लोग सैनिटरी नैपकिन का महत्व समझ रहे हैं और उन महिलाओं की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। मैं पंजाब पुलिस, ब्प्प् प्ॅछए रसोई आॅन व्हील्स और परी जैसे काॅर्पोरेट्स को सलाम करती हूं, जिनके प्रयासों के चलते इस ज़रूरी प्रोडक्ट को प्राथमिकता दी जा रही है और इस महामारी के दौर में महिलाओं की मूल ज़रूरत को पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है। मैं न केेवल एक महिला बल्कि नागरिक होने के नाते इस अभियान रुैीमथ्पतेज को अपना समर्थन देती हूं, जो कई अन्य महिलाओं की आवाज़ बन सकता है। मैं हर महिला की गरिमा की समर्थक हूं और शपथ लेती हूं कि पैड्स ज़रूरी हैं

रिंकी धींगरा, ब्प्प्.प्ॅछए क्मसीप ब्ींचजमत की चेयरवुमन, ने कहा, ‘‘परी के साथ जुड़ते हुए ब्प्प्.प्ॅछए क्मसीप ब्ींचजमत को बेहद खुशी है। महिलाएं अक्सर अपनी मूल ज़रूरतों पर ध्यान नहीं देती हैं, खासतौर पर वेे हमेशा से माहवारी के दौरान अपनी और अपने स्वास्थ्य की अनदेखी करती आई हैं। मुझे खुशी है कि परी जैसे काॅर्पोरेट्स इनकी मदद के लिए आगे आ रहे हैं और ज़रूरतमंद महिलाओं को निःशुल्क सैनिटरी पैड बांट रहे हैं। इस अभियान रुैीमथ्पतेज को समर्थन देता है और हम शपथ लेते हैं कि पैड ज़रूरी हैं रुच्ंके।तमम्ेेमदजपंस।’’

मनिका बधवार, सह-संस्थापक, रसोई आॅन व्हील्स ने अभियान को समर्थन देते हुए कहा, ‘‘रसोई आॅन व्हील्स में हमें परी और उसे संस्थापक-सीईओ साहिल धरिया के साथ जुड़ते हुए बेहद खुशी का अनुभव हो रहा है जो हमारे फूड डिलीवरी ज़ोन्स में निःशुल्क सैनिटरी पैड बांट रहे हैं। माहवारी के दौरान स्वच्छता आज भी महिलाओं के लिए बड़ा मुद्दा है और इस मुश्किल समय में मैं इस अभियान रुैीमथ्पतेज को समर्थन देती हूं और शपथ लेती हूं कि पैड ज़रूरी हैं रुच्ंके।तमम्ेेमदजपंस ।’’
यह अभियान विभिन्न चैनलों के ज़रिए पंजाब, दिल्ली, गुरूग्राम जैसे शहरों में शुरू हो चुका है और परी दिल्ली-एनसीआर एवं पंजाब के ज़िलों में सैनिटरी नैपकिन बांट रहे हैं। 

परी इस बात की ओर लोगों का ध्यान आकर्षित करना चाहता है कि माहवारी के दौरान स्वच्छता के लिए महिलाओं की ज़रूरतों को प्राथमिकता देना ज़रूरी है। माहवारी के दौरान महिलाओं में इन्फेक्शन की संभावना अधिक होती है, खासतौर पर इस माहमारी के दौरान इनकी इस ज़रूरत पर ध्यान देना और भी ज़रूरी हो जाता है। समय आ गया है कि ब्राण्ड आगे बढ़कर महिलाओं की इस ज़रूरत को पूरा करें और उन्हें अन्य सैनिटरी उत्पादों के साथ-साथ सैनिटरी पैड भी उपलब्ध कराएं जाएं। 
 परी एक महिला उन्मुख ‘महिलाओं का, महिलाओं के द्वारा और महिलाओं के लिए’ एक ब्राण्ड है। इसका मानना है कि माहवारी के दौरान स्वच्छता महिलाओं का मूल अधिकार है, इसके लिए समाज में माहवारी को लेकर फैली गलत और रूढीवादी अवधारणाओं को दूर करना बेहद ज़रूरी है।