ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
कैट द्वारा चीन भारत छोड़ो अभियान शुरू
August 12, 2020 • क़ुतुब मेल • राष्ट्रीय

नयी दिल्ली .भारत  छोड़ो आंदोलन के दिन कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स ;कैटद्ध ने चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के आवाहन को लेकर  देश भर में शुरू किये गए ष् भारतीय सामान . हमारा अभिमानष् में एक नया आयाम जोड़ते हुए देश भर के विभिन्न राज्यों के लगभग 600  स्थानों परष् चीन भारत छोड़ो ष् प्रोजेक्ट को बेहद मजबूती और जोर शोर से शुरू करते हुए केंद्र सरकार से भारत में चीन के बढ़ते क़दमों पर हल्ला बोलने का आग्रह करते हुए कहा की देश के स्वाभिमान और सुरक्षा के लिए  

अब केंद्र सरकार को तुरंत भारत में आने वाले चीनी सामानए भारत की विभिन्न कंपनियों में चीनी निवेशए चीन की अनेक डिजिटल ऐप ए सरकारी प्रोजेक्टों में चीन की हिस्सेदारी और विभिन्न संवेदनशील निर्माण कार्यों में चीन की कंस्ट्रक्शन मशीनरी आदि पर तुरंत प्रतिबन्ध लगाकर भारत में चीन की घेराबंदी करनी चाहिए !

कैट ने  देश भर में आयोजित हुए कार्यक्रमों में व्यापारियों ने सड़कों पर बैठकर विरोध धरने दिए और अपने हाथ में चीन को सीधा सन्देश देने वाले प्लेकार्ड पकड़ कर चीनी सामान को लेकर मजबूत रूप से विरोध जताया और चीनी राष्ट्रपति श्री जिनपिंग एवं चीन के झंडे को जलाकर यह सन्देश दिया की भारत के लोग अब चीन की दादागिरी को और अधिक बर्दाश्त नहीं करेंगे और चीनी सामान को बहिष्कार कर ही अब दम लेंगे तथा गत 20 वर्षों में चीन से जिस प्रकार से भारत के रिटेल व्यापार पर अपना आधिपत्य जमाने की कोशिश की है उसका पर्दाफाश करते हुए देश के लोग पूर्ण रूप से अब चीनी सामानों का बहिष्कार करेंगे !

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा की भारतीय क्रिकेट कण्ट्रोल बोर्ड द्वारा आईपीएल में चीनी कम्पनी वीवो के खिलाफ कैट ने जो मोर्चा खोला था उसको देखते हुए वीवो कम्पनी ने स्वयं अपने आप को आईपीएल से अलग कर लिया था लेकिंग मीडिया समाचारों के अनुसार बीसीसीआई अब अमेज़न एवं चीनी कम्पनी ब्यूज सहित अन्य अनेक कंपनियों से स्पॉन्सरशिप की बात कर रहा है ! उन्होंने क्रिकेट बोर्ड को चेताते हुए कहा की अमेज़न जैसी कंपनियां जो अपनी नितांत गलत नीतियों के कारण भारत ही नहीं बल्कि विश्व में कुख्यात हैं और जिसके खिलाफ दुनिया के अनेक देशों में जांच चल रही हैए ऐसी कंपनियों से आईपीएल को दूर रखा जाए ! इसी प्रकार चीनी कम्पनी ब्यूज को भी स्पॉन्सरशिप देना बेहद गलत होगा और अनावश्यकरूप से गंभीर विवाद को जन्म देगा ! बीसीसीआई किसी भी भारतीय कम्पनी को स्पांसर बनाय तो हमें कोई आप्पत्ति नहीं है!

भरतिया एवं खंडेलवाल ने चीन भारत छोड़ो अभियान का एजेंडा जारी करते हुए कहा की केंद्र सरकार से चीन की चौतरफा घेराबंदी करने का आग्रह करते हए कहा की पिछले 20 वर्षों में चीन जिस प्रकार एक सोची समझी राजनीति को ध्यान रखने में चीन से व्यापार करने की एक स्पष्ट नीति तय की जाए ! उन्होंने कहा की इसकी शुरुआत करते हुए सरकार चीनी कंपनी हुवावे की 5 जी नेटवर्क को भारत में लागू करने से पहले प्रतिबंधित किया जाए कैट के सुझाव पर सरकार ने 59 चीनी ऐप को प्रतिबंधित किया है और उसी तर्ज़ पर लगभग 30 और चीनी ऐप अभी भी देश में चल रही हैंए ऐसी बची खुची चीनी ऐप को भी सरकार को प्रतिबंधित करना चाहिए !