ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
कोविड-19 संकट से प्रभावित लोगों की सहायता के लिए अंबुजा सीमेंट और एसीसी ने मिलाया हाथ
April 28, 2020 • नूरुद्दीन अंसारी • राष्ट्रीय

नयी दिल्ली - वैश्विक समूह लाफार्ज-होल्सिम के सदस्य के तौर पर कार्यरत अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड और एसीसी लिमिटेड, देश में सीमेंट का निर्माण करने वाली दो प्रमुख कंपनियां हैं, जिन्होंने सम्मिलित रूप से तीन प्रतिष्ठित गैर-सरकारी संगठनों को 3.30 करोड़ रुपये का अनुदान दिया है, ताकि दिहाड़ी मज़दूरों, प्रवासी मज़दूरों, झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले लोगों तथा लॉकडाउन के कारण देश भर में फँसे बेघर व बेसहारा लोगों को सहायता प्रदान की जा सके। 

अंबुजा सीमेंट और एसीसी साथ मिलकर देश में आपदा राहत कार्यों के लिए प्रसिद्ध तथा सामग्री प्रबंधन में विशेषज्ञता रखने वाले एनजीओ, गूँज को अपना सहयोग दे रहे हैं। साथ ही दोनों कंपनियों की ओर से प्रजा फाउंडेशन और मुंबई रोटी बैंक को भी सहायता राशि प्रदान की गई है, जो नोवल कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए पूरे देश में लागू किए गए लॉकडाउन की वजह से अपनी रोजी-रोटी खो चुके दिहाड़ी मज़दूरों एवं ज़रूरतमंद लोगों को बड़े पैमाने पर सहायता उपलब्ध कराने में जुटे हैं। इसके अलावा, ये दोनों संगठन देश के उन सभी इलाकों में इस बीमारी के चौतरफा रोकथाम और राहत प्रयासों में लगातार सहायता कर रहे हैं, जहां तत्काल ध्यान देना बेहद आवश्यक है।

इस अवसर पर भारत में लाफार्ज-होल्सिम के सीईओ तथा अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के एमडी एवं सीईओ, नीरज अखौरी ने कहा, “आज दुनिया के दूसरे सभी देशों की तरह, भारत भी सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट के सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है। ऐसे हालात में, परस्पर सहयोग पर आधारित मॉडल ही बीमारी की रोकथाम करने के साथ-साथ उन सभी ज़रूरतमंद लोगों की सहायता करने में सबसे असरदार साबित होते हैं, जिनकी आजीविका का फिलहाल कोई साधन नहीं है और जो दो वक़्त की रोटी के लिए संघर्ष कर रहे हैं। हम मानते हैं कि, जमीनी स्तर पर राहत कार्यों में जुटे इन गैर-सरकारी संगठनों को हमारे योगदान के साथ-साथ स्थानीय समुदायों को सहायता करने की दिशा में हमारी अपनी कंपनियों के प्रयासों से लोगों को राहत पहुंचाने के काम में तेज़ी आएगी और इसका दायरा भी बढ़ेगा।”

 कोविड-19 बड़े पैमाने पर फैल रहा है तथा इसकी वजह से पूरे देश में लॉकडाउन लागू किया गया है, जिसने देश को ठहराव की स्थिति में ला दिया है। इन परिस्थितियों को देखते हुए, अंबुजा सीमेंट और एसीसी की ओर से तुरंत उन समुदायों की सुरक्षा के लिए संसाधन उपलब्ध कराए गए हैं, जहां हम काम करते हैं। अपनी सीएसआर शाखाओं, यानी कि अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन और एसीसी ट्रस्ट के माध्यम से हमने दूसरे राज्यों के मज़दूरों एवं ज़रूरतमंद लोगों के बीच भोजन के हजारों पैकेट और राशन किट वितरित किए हैं। सैकड़ों गाँवों की साफ़-सफ़ाई के उद्देश्य से वहां बहुउद्देशीय टैंकरों और वाहनों की मदद से कीटाणुनाशक का छिड़काव किया जा रहा है। हमारे सहयोगी स्वयं-सहायता समूह (एसएचजी) द्वारा 3 लेयर वाले फेस मास्क तैयार किए जा रहे हैं, जिनका वितरण स्थानीय नगर पालिकाओं, सफ़ाई कर्मचारियों तथा आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले लोगों के बीच किया जा रहा है। हमारे स्वयंसेवक लाउडस्पीकर और पोस्टर से लैस होकर गाँवों में घूम रहे हैं तथा विभिन्न प्रकार के मोबाइल संदेश का भी उपयोग कर रहे हैं, ताकि ग्रामीणों को सामाजिक तौर पर एक-दूसरे से दूरी बनाए रखने, व्यक्तिगत साफ़-सफ़ाई और श्वसन स्वच्छता के बारे में शिक्षित किया जा सके।

एसीसी लिमिटेड के एमडी एवं सीईओ, श्रीधर बालाकृष्णन ने ज़ोर देकर कहा कि, “पूरी दुनिया में फैल चुकी इस महामारी ने सामाजिक स्तर पर एक अभूतपूर्व चुनौती उत्पन्न की है। कॉर्पोरेट सेक्टर को सरकार एवं सार्वजनिक निकायों के प्रयासों में सहायता करने के लिए कदम उठाना चाहिए। हमारे देश ने सार्वजनिक स्वास्थ्य आवश्यकताओं पर ध्यान केंद्रित किया है, लिहाजा एसीसी और अंबुजा की ओर से हम एकजुट होकर ऐसे एनजीओ को सहायता उपलब्ध करा रहे हैं, जो कोविड-19 संकट से सबसे ज्यादा प्रभावित लोगों की रक्षा करने एवं उनका जीवन बचाने के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं। हम सामूहिक जिम्मेदारी के साथ प्रवासी मज़दूरों, दिहाड़ी मज़दूरों और प्रभावित समुदायों के लिए दो वक़्त की रोटी की उपलब्धता को सुनिश्चित कर रहे हैं।”

किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा की स्थिति में, अंबुजा सीमेंट और एसीसी लोगों को राहत पहुंचाने के काम में हमेशा सबसे आगे रहे हैं। हम बड़े पैमाने पर सामाजिक मूल्य के सृजन के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारा मानना है कि, जिन इलाकों में हम अपने कारोबार का संचालन करते हैं वहां आसपास रहने वाले समुदाय हमारे प्रमुख हितधारक हैं, तथा उनके सशक्तिकरण और समग्र विकास के लिए हम पूरी तरह समर्पित हैं।