ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
मैन महिन्द्रा मैन्यूलाइफ आर्बिटरेज योजना,जो आर्बिटरेज अवसरों में निवेश करने का मौका देती है
August 14, 2020 • नूरुद्दीन अंसारी • राष्ट्रीय

नयी दिल्ली : महिंद्रा मैन्यूलाइफ म्यूचुअल फंड, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा फिनांशियल सर्विसेज लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी ने 'महिन्द्रा मैन्यूलाइफ आर्बिटरेज योजना' लॉन्च की है. यह इक्विटी, डेरिवेटिव्स और डेट मार्केट में उपलब्ध आर्बिट्राज अवसरों में निवेश के लिए एक ओपन एंडेड योजना है. यह योजना उन निवेशकों के लिए उपयुक्त है जो अपेक्षाकृत कम जोखिम, कर कुशल रिटर्न, और बाजार में उतार-चढ़ाव से अपेक्षाकृत कम प्रभावित होने वाली योजना में पैसा लगाने के लिए अल्पकालिक निवेश विकल्पों की तलाश कर रहे हैं. 

न्यू फंड ऑफर 19 अगस्त, 2020 को बंद हो जाएगा. यह स्कीम 25 अगस्त, 2020 से लगातार बिक्री और पुनर्खरीद के लिए फिर से खुल जाएगी.  महिंद्रा मैन्यूलाइफ म्यूचुअल फंड बेस्ट-इन-क्लास मार्केट स्ट्रैटेजी को अपनाएगा और एक्सचेंज पर होने वाले वायदा कारोबार और नकदी के बीच की स्थिति में आर्बिट्राज में निवेश करेगा. बास्केट ऑफ स्टॉक्स में निवेश कर इसके खिलाफ इसी वायदा को कम करें  या अंतर्निहित और डेरिवेटिव बाजार के बीच कॉस्ट ऑफ कैरी की उच्च लागत से वापसी लें. 

महिंद्रा मैन्यूलाइफ म्यूचुअल फंड के एमडी और सीईओ आशुतोष बिश्नोई ने कहा, “वर्षों से मध्यस्थता बाजार में निवेशकों की भागीदारी ने उपलब्ध अंतर्निहित अवसरों के कारण लगातार वृद्धि देखी है. 'महिन्द्रा मैन्यूलाइफ आर्बिटरेज योजना' उन निवेशकों के लिए उपयुक्त है जो कम समय में डेरिवेटिव सेगमेंट के भीतर नकद और डेरिवेटिव बाज़ार और आर्बिटरेज अवसरों के बीच आय चाहते हैं. यह योजना बाजार चक्र में आर्बिटरेज अवसरों की पहचान करने और अपेक्षाकृत कम अस्थिरता और कम जोखिम पर रिटर्न की पेशकश करने के लिए कई रणनीतियों का उपयोग करेगी.

सामान्य परिस्थितियों में महिन्द्रा मैन्यूलाइफ आर्बिटरेज योजना इक्विटी डेरिवेटिव सहित इक्विटी और इक्विटी संबंधित उपकरणों में न्यूनतम 65-100% का निवेश करेगी, ऋण और मुद्रा बाजार की यह 35% तक निवेश करेगी, जिसमें ट्राइ-पार्टी रेपो, रिवर्स रेपो भी शामिल है. रक्षात्मक परिस्थितियों में स्कीम इक्विटी डेरिवेटिव सहित इक्विटी और इक्विटी संबंधित उपकरणों में 0 - 65% का निवेश करेगी जबकि 35% तक डेट और मनी मार्केट सिक्योरिटीज में ट्राय-पार्टी रेपो, रिवर्स रेपो और REITs & InvITs द्वारा जारी यूनिट्स में 10% तक का निवेश करेगी.