ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
मेडिकाबाजार और जिपलाइन  ने मेडिकल ड्रोन डिलीवरी के लिए साझेदारी की
July 10, 2020 • नूरुद्दीन अंसारी • बिज़नेस

नई दिल्ली : चिकित्सा उपकरणों के भारत के प्रमुख बी2बी बाजार मेडिकाबाजार ने दुनिया की सबसे बड़ी ऑटोनोमस ऑन-डिमांड ड्रोन डिलीवरी सेवा ज़िपलाइन के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। साझेदारी के तहत दवाओं के वितरण के समय में 30 मिनट की बचत होगी और यह भविष्य में आपात परिस्थितियों में चिकित्सा सामग्री पहुंचाने के क्षेत्र में एक गेम-चेंजर साबित हो सकता है। यह सेवा इस वर्ष के अंत या 2021 की पहली तिमाही तक शुरू हो जाने की उम्मीद है।


 
इस साझेदारी के एक हिस्से के रूप में ज़िपलाइन पुणे और नंदुरबार जिलों में दो डिस्ट्रिब्यूशन सेंटर से मेडिकाबाजार के 100 से अधिक ग्राहकों को सेवा देगी। ज़िपलाइन ने पहले से ही उपरोक्त वितरण केंद्र बनाने और संचालन के लिए  महाराष्ट्र सरकार और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के साथ भागीदारी की है।  मेडटेक कंपनी के साथ उनकी साझेदारी 85 किमी की सर्विस रेंज के भीतर अस्पतालों के लिए मूल्यवान साबित होगी। यदि प्रकोप कायम रहता है या भविष्य के प्रकोप के दौरान इसका उपयोग कन्टेनमेंट ज़ोन या संभावित हॉटस्पॉट के भीतर चिकित्सा सामग्री की दरवाजे पर डिलीवरी को प्रोसेस करने में भी किया जा सकता है। यह साझेदारी आगे चलकर संपूर्ण हेल्थकेयर सिस्टम में जमीनी स्तर की मांग की रियलटाइम विजिबिलिटी प्रदान करेगी।
 
अगले कुछ महीनों में, मेडिकाबाजार और ज़िपलाइन ने कई अस्पताल चालू करने और इंस्टैंट डिलीवरी सर्विस को अपने मौजूदा ऑर्डरिंग प्लेटफार्म में एकीकृत करने की योजना बनाई है। अस्पताल सीधे ज़िपलाइन के ऑर्डर सिस्टम से ऑर्डर कर सकते हैं जो मेडिकाबाजार प्लेटफ़ॉर्म से जुड़ा होगा। चिकित्सा उत्पादों की सूची में अन्य आवश्यक सप्लाई के साथ महत्वपूर्ण जीवन-रक्षक और कोल्ड-चेन-डिपेंडेबल फार्मास्यूटिकल्स शामिल होंगे। इस साझेदारी के तहत एक घंटे से भी कम समय में अस्पतालों में महत्वपूर्ण, जीवन-रक्षक दवाइयों की डिलीवरी में मदद मिलेगी। महाराष्ट्र प्रोजेक्ट ही आगे चलकर अन्य भारतीय राज्यों में इस सेवा का विस्तार करने का आधार बनेगा।
 
साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए मेडिकाबाजार के संस्थापक और सीईओ विवेक तिवारी ने कहा, “ज़िपलाइन के साथ हमारी भागीदारी इमरजेंसी मेडिकल सप्लाई के मुद्दे को दो तरीकों से हल करने में मदद करेगा। पहला, यह आवश्यक मेडिकल आइटम्स को समय पर डिलीवर करने में मदद करेगा, और दूसरा, यह सप्लाई चेन से क्लोज ह्यूमन कॉन्टेक्ट को समाप्त कर रोग के प्रसार के जोखिम को भी कम करेगा। हमें विश्वास है कि एक बार ऑपरेशनल होने के बाद इस साझेदारी के तहत दूरदराज वाले दुर्गम आबादी वाले क्षेत्रों में भी डिलीवरी संभव हो सकेगी जिससे अधिक से अधिक लोगों की जान बचाई जा सकेगी। ”
 
ज़िपलाइन के सीईओ केलर रिनाडू ने कहा, “जिपलाइन दूसरे देशों में भी महामारी से मुकाबला करने में मदद करने को मजबूती से खड़ी है। हमें भारत में भी मदद शुरू करने के लिए हेल्थकेयर इनोवेशन में सच्चे नेता मेडिकाबाजार के साथ साझेदारी करने पर गर्व है। हम कोविड-19 के खिलाफ लंबी लड़ाई देख रहे हैं। कॉन्टेक्टलेस ड्रोन लॉजिस्टिक्स का उपयोग इस प्रयास में एक महत्वपूर्ण साधन होगा। हमें उम्मीद है कि भारत में हम यहां जो काम करने वाले हैं, वह देश के बाकी हिस्सों को यह समझने में मदद करेगा कि किस तरह सबसे लचीला और संवेदनशील हेल्थकेयर सिस्टम बनाया जाए।”