ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
फरीदाबाद के स्टूडेंट ने दिल्ली एनसीआर में 5वीं कोरिया क्विज जीती
October 14, 2020 • नूरुद्दीन अंसारी • अंतर्राष्ट्रीय

नयी दिल्ली - कोरियन कल्चरल सेंटर इंडिया ने 5 वीं कोरिया-भारत मैत्री क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया. यह दिल्ली एनसीआर की अंतर्राष्ट्रीय विषय पर सबसे बड़ी प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता थी। इस प्रतियोगिता में 60 स्कूलों के 31000 से अधिक छात्र शामिल थे. शीर्ष 4 विजेता छह दिन और पांच रातों की यात्रा के लिए कोरिया जाएंगे..

20 अन्य छात्रों को 51,000 रुपये का नकद पुरस्कार मिलेगा. यह प्रश्नोत्तरी कोरिया के इतिहास और संस्कृति और सामान्य ज्ञान के विभिन्न पहलुओं पर थी. इसमें भारत और कोरिया के बीच बढ़ते हुए द्विपक्षीय संबंधों  का ज्ञान भी था. विजेताओं को 510 सेमी-फाइनलिस्ट छात्रों में से चुना गया था. इनमें से केवल 8 ने सुपर फ़ाइनल में अपनी जगह बनाई

कोरियाई सांस्कृतिक केंद्र भारत के निदेशक श्री किम कुम-प्योंग ने कहा कि भारत और कोरिया संस्कृति, विरासत और व्यवसाय के क्षेत्रों में एक मजबूत बंधन साझा करते हैं। उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि दोनों राष्ट्रों के बीच युवाओं को जोड़ने से इन द्विपक्षीय संबंध को और अधिक मजबूत आधार मिलेगा। कोरियन कल्चरल सेन्टर ने 2016 में भारतीय युवाओं में  ज्ञान के प्रसार के माध्यम से कोरिया - भारत संबंधों को मजबूत करने के उद्देश्य से इस प्रतियोगिता को शुरू किया था। प्रथम पुरस्कार विजेता, अरावली इंटरनेशनल स्कूल, फरीदाबाद से 10 वीं कक्षा के छात्र आरुष गुप्ता ने कहा कि उन्हें कोरियाई संस्कृति और भारतीय संस्कृति के बीच की समानता ने कोरिया के बारे में जानने के लिए प्रेरित किया

द्वितीय पुरस्कार विजेता, इंद्रप्रस्थ इंटरनेशनल स्कूल, द्वारका के 10 वीं कक्षा के छात्र, स्वप्निल गुप्ता ने कहा कि अब उनका कोरिया जाना, दो साल की कड़ी मेहनत से जीती उनकी जीत की बदौलत संभव हो गया तृतीय पुरस्कार विजेता, अनुषा गुप्ता, एमिटी इंटरनेशनल स्कूल, पुष्प विहार से कक्षा 10 वीं की छात्रा, ने कहा कि वह के-पॉप की बहुत बड़ी प्रशंसक हैं और उन्होंने हमेशा के-पॉप की भूमि पर जाने के बारे में कल्पना की थी और अब यह सच हो गया है। चौथा पुरस्कार मॉडर्न पब्लिक स्कूल, शालीमार बाग से कक्षा 12 वीं की छात्रा रिया ने जीता।

2016 में शुरू की गई इस वार्षिक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में पहले वर्ष में लगभग 10,000 छात्रों ने भाग लिया था। इस वर्ष संस्कृति और कूटनीतिक संबंधों को लेकर भारत और कोरिया के बीच घनिष्ठ संबंधों के बारे में जानते हुए छात्रों को के-पॉप, के-ड्रामा और कोरियाई स्वादिष्ट भोजन के बारे में अच्छी जानकारी थी। जिन स्कूलों ने भाग लिया उनमें से कुछ हैं - स्प्रिंगडेल्स स्कूल, एमिटी स्कूल, सेंट मार्क्स स्कूल और डीपीएस वसंत कुंज