ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
शेमरॉक और शेमफोर्ड ग्रुप ऑफ स्कूल द्वारा "एक सफल स्कूल खोलने के ए-जेड" पर वर्कशॉप
December 17, 2019 • नूरुद्दीन अंसारी • अंतर्राष्ट्रीय

नयी दिल्ली -  अमोल अरोड़ा ने कहा, “इन कार्यशालाओं के माध्यम से मैं वह ऐसा ज्ञान और कौशल साझा करना चाहता हूं जो मैंने पिछले 30 वर्षों में जुटाया है ताकि लोगों को सफलतापूर्वक स्कूल स्थापित करने और संचालित करने में मदद मिल सके। पूरे भारत, नेपाल और बांग्लादेश में स्थित 650 प्री-स्कूल, प्राइमरी स्कूल और 10 + 2 स्कूलों को चलाने का अनुभव है। 500 से अधिक उद्यमियों को सफल स्कूल खोलने के लिए मेंटरिंग की है। इस नाते कह सकता हूं कि मैं शिक्षा के क्षेत्र में इच्छुक उद्यमियों का सही मार्गदर्शन कर रहा हूं। यह विचार देश में शिक्षा स्तर को बढ़ाने और हमारे छात्रों के लिए समग्र शैक्षिक इकोसिस्टम बनाने का है। मैं दिल्ली और आसपास के शहरों में अधिक स्कूल खोलने की अपनी प्रतिबद्धता के लिए तत्पर हूं। ”

दक्षिण एशिया के सबसे तेजी से बढ़ते स्कूल चेन में से एक शेमरॉक एंड शेमफोर्ड ग्रुप ने हाल ही में अपने शहर में एक प्लेस्कूल, प्राथमिक विद्यालय या सीनियर सेकंडरी स्कूल खोलने के इच्छुक उद्यमियों के लिए " ए-टू-जेड ऑफ ओपनिंग अ सक्सेसफुल स्कूल" शीर्षक से पूरे दिन की कार्यशाला का आयोजन किया। यह कार्यशाला नई दिल्ली के होटल द पार्क में आयोजित की गई थी। एशिया के नंबर-1 स्कूलिंग एक्सपर्ट और लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर (2013) अमोल अरोड़ा (वाइस चेयरमैन और एमडी, शेमरॉक और शेमफोर्ड ग्रुप ऑफ स्कूल्स) द्वारा संचालित यह स्कूल चेन द्वारा आयोजित अपनी तरह की पहली कार्यशाला थी। 

कार्यशाला का उद्देश्य प्रतिभागियों को उपयोगी टिप्स और रणनीतियों के साथ तैयार करना है ताकि न केवल एक स्कूल स्थापित किया जा सके बल्कि इसे सफलतापूर्वक संचालित किया जा सके। इस दौरान विभिन्न प्रकारों के स्कूल के लिए विभिन्न निवेश आवश्यकताओं और कुछ महंगी पड़ने वाली गलतियों पर प्रकाश डाला, जिन्हें कोई भी व्यक्ति अपने स्कूल की स्थापना के दौरान टाल सकता है। प्रतिभागियों को स्कूल के लिए सही स्थान चुनने की भी जानकारी दी गई। भूमि और भवन की आवश्यकताओं, साथ ही आसान सरकारी अनुमोदन के लिए क्या किया जाए, यह बताया गया। कार्यशाला में प्रतिभागियों को सोच-समझकर निर्णय लेने में मदद करने के लिए स्वतंत्र व फ्रेंचाइजी स्कूलों के बीच तुलना भी बताई गई। स्कूलों से आने होने वाले राजस्व के अतिरिक्त स्रोतों की भी चर्चा की गई। इनके अलावा स्कूल कब, कहां और कैसे लॉन्च किया जाए, इसके अन्य सभी सरोकारों को संबोधित किया गया, जिससे प्रतिभागियों के सभी संदेह दूर हो सकते हैं।

शेमरॉक और शेमफोर्ड ग्रुप ऑफ स्कूल्स के बारे में 

शेमरॉक और शेमफोर्ड ग्रुप ऑफ स्कूल्स की स्थापना तीस साल से भी अधिक समय पहले की गई थी। तब से इसने शिक्षा उद्योग में इनोवेशन और एक्सीलेंस की परंपरा को बनाए रखा है। भारत, नेपाल और बांग्लादेश में 4,00,000 से अधिक छात्रों को शिक्षित किया है। समूह में वर्तमान में 650+ प्री-स्कूल, प्राथमिक विद्यालय और 10+2 विद्यालय हैं। यह एक प्री-स्कूल ब्रांड के रूप में शुरू हुआ और अब यह दक्षिण एशिया में सबसे प्रतिष्ठित 10+2 स्कूल ब्रांडों में से एक है। समूह 21वीं सदी की कक्षाओं के लिए उपयुक्त समाधानों के निर्माण पर केंद्रित है। इसे 1989 से प्रारंभिक शिक्षा की अवधारणा में क्रांति लाने का श्रेय दिया जाता है। इसमें सीखने की जीवंत और बाल-सुलभ व्यवस्था का नेतृत्व किया जाता है। भारत का पसंदीदा कार्टून कैरेक्टर छोटा भीम इस चेन का ब्रांड एंबेसडर है।