ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय बिज़नेस मनोरंजन साहित्य खेल वीडियो
स्टडी ग्रुप भारत में करियर काउन्सलर्स के लिए निःशुल्क वर्चुअल यूके वीज़ा ट्रेनिंग पेश करेगा
April 29, 2020 • नूरुद्दीन अंसारी • अंतर्राष्ट्रीय

नयी दिल्ली : विश्वस्तरीय कंपनी स्टडी ग्रुप, जो अन्तर्राष्ट्रीय छात्रों को युनिवर्सिटी डिग्री प्रोग्रामों के लिए तैयार करती है, ने भारत में करियर काउन्सलर्स के लिए दो दिवसीय निःशुल्क युके वीज़ा ट्रेनिंग सैशन का ऐलान किया है, जो भारतीय छात्रों के लिए यूके में अध्ययन की योजनाओं से जुड़े सवालों और चुनौतियों को हल करने में मदद करेगा। इन सत्रों का आयोजन 1 मई 2020 को दोपहर 1:30 बजे से 3: 30 बजे के बीच किया जाएगा। स्टडी ग्रुप 1 मई  को 500 से अधिक काउन्सलर्स के साथ जुड़ेगा।

मौजूदा महामारी के चलते न केवल कई देशों की सीमाएं बंद हो गई हैं, बल्कि छात्रों के लिए अवसर भी सीमित हो गए हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए स्टडी ग्रुप ने हाल ही में अपने वर्चुअल लर्निंग प्लेटफॉर्म का लॉन्च किया जो उच्च गुणवत्ता के अध्यापन के साथ छात्रों को भी पूरा सहयोग प्रदान करता है। वे छात्र जो विदेश में पढ़ना चाहते हैं और अपनी भाषा, अकादमिक एवं सामाजिक कौशल पर काम करना चाहते हैं, वे उन अकादमिक विशेषज्ञों के साथ प्रोग्राम जारी रख सकेंगे, जिन्होंने हज़ारों छात्रों को उनके चुने हुए विषय में सफलता हासिल करने में मदद की है। इस वर्चुअल लर्निंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से छात्रों को लाईव-स्ट्रीम्ड कक्षाओं के साथ-साथ रिकॉर्ड किए गए अध्याय पढ़ने का मौका भी मिलेगा, वे ऑनलाईन सोशल कैलेंडर, ग्रुप वर्क प्लेटफॉर्म और लाईव चैट फोरम्स के ज़रिए अपने अध्ययन को और आसान बना सकेंगे।

इस अवसर पर अपने विचार अभिव्यक्त करते हुए बैन चार्लटन, भारत के लिए यूके डायरेक्टर ने कहा, ‘‘हम अपने करियर काउन्सलर्स और एजेंट्स के साथ रियल टाईम जानकारी साझा करना चाहते हैं, जो हमारे छात्रों को सही तरीके से मार्गदर्शन दे सकेंगे और उनके सवालों एवं समस्याओं को हल कर सकेंगे। अग्रणी विश्वस्तरीय शिक्षा प्रदाता होने के नाते, हम वर्चुअल लर्निंग प्लेटफॉर्म के ज़रिए अध्यापन के तरीकों में सर्वोच्च मानक बनाए रखना चाहते हैं। हम हर छात्र की मदद के लिए तत्पर हैं, खासतौर वे छात्र जो मई और जून 2020 में हमारे यूके प्री मास्टर प्रोग्राम ऑनलाईन में शामिल होना चाहते हैं। यह उन छात्रों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है जो अपना समय बर्बाद न करते हुए अपने साथियों के समकक्ष रहना चाहते हैं, किसी से पीछे नहीं छूट जाना चाहते।’’

वर्तमान में यात्रा में आने वाली रूकावटों के चलते UKVI ने नए निर्देश जारी किए हैं, जिसके तहत अन्तर्राष्ट्रीय छात्रों को अपने देश में घर बैठे ऑनलाईन अध्ययन शुरू करने की अनुमति दी है, जिसके लिए उन्हें वीज़ा की ज़रूरत नहीं होगी। इसका अर्थ यह है कि छात्रों को ऑनलाईन कोर्स शुरू करने के लिए सीएएस की ज़रूरत नहीं होगी। अगर छात्र सफलतापूर्वक अपना ऑनलाईन कोर्स पूरा कर लेते हैं तो छात्रों को तब वीज़ा आवेदन के लिए सीएएस जारी किया जाएगा, जब यात्रा में रूकावटें समाप्त हो जाएंगी।